इंसान जीवन भर सीखता रहता है-डॉ एस पी सिंह

शिक्षा का उद्देश्य मात्र जानकारी बढ़ाना नहीं अपितु जीवन को संस्कारशाली बनाना होता है। सीखना एक सतत प्रक्रिया है।इंसान जीवन भर सीखता रहता है।हमें निरन्तर जिज्ञासु बना रहना होता है।ये विचार आज पूर्व विधान विधान परिषद सदस्य तथा लखनऊ पब्लिक स्कूल्स के संस्थापक डॉ एस पी सिंह नें व्यक्त किये।वो आज नेताजी सुभाषचंद्र बोस राजकीय महिला महाविद्यालय अलीगंज में प्लेसमेंट सेल और इंदिरागांधी मुक्त विवि के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित एक दिवसीय संगोष्टी को मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे। इस अवसर पर पर इग्नू की क्षेत्रीय निदेशक  डॉ मनोरमा सिंह नें छात्राओं का आह्वान किया कि वे जीवन में अपनी योग्यता और प्रतिभा के अनुरूप लक्ष्य का निर्धारण करें तथा नियमित शिक्षा के साथ इग्नू का कोई रोजगारपरक कोर्स भी पूरा करें इससे उनके रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।जिला सेवायोजन अधिकारी तथा कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि  मिथिलेश कुमार ने कहा कि छात्राएं सेवायोजन कार्यालय तथा अनेक सोशल मीडिया के माध्यम से विभिन्न रोजगारों के बारे में पता कर सकती हैं।खादी और ग्रामीण उद्योग के वरिष्ठ प्रबंधक ।महाविद्यालय की प्राचार्य प्रोफेसर अनुराधा तिवारी ने कहा कि महाविद्यालय में समय समय पर रोजगार से संबंधित इस प्रकार के कार्यक्रम आयोजित होते हैं जिससे छात्राएं आत्मनिर्भर बन सकें ।उन्होंने आये हुए अतिथियों के प्रति आभार व्यक्त किया।कार्यक्रम का संचालन इग्नू के सहायक निदेशक डॉ कीर्ति विक्रम सिंह नें किया तथा धन्यवाद ज्ञापन इग्नू समन्वयक डॉ जय प्रकाश वर्मा नें किया।जवाहर लाल नेहरू पी जी कालेज के इग्नू समन्वयक डॉ मानव कुमार सिंह नें भी छात्राओं को संबोधित किया।कार्यक्रम में सहायक समन्यवक डॉ क्रांति सिंह,काउंसेलर डॉ भास्कर शर्मा डॉ रश्मि बिश्नोई,डॉ पूनम वर्मा,डॉ सपना जायसवाल, डॉ श्वेता भारद्वाज, डॉ शरद वैश्य,डॉ राघवेंद्र प्रताप,डॉ विशाखा कमल,डॉ पुष्पा यादव,डॉ अरविंद डॉ मीनाक्षी शुक्ल,डॉ सविता सिंह डॉ शालिनी श्रीवास्तव डॉ सारिका सरकार डॉ विनीता लाल, डॉ रश्मि अग्रवाल डॉ उषा मिश्र सहित बड़ी संख्या में छात्राएं मौजूद रहीं।

Social media & sharing icons powered by UltimatelySocial