बदायूं उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही डायल-100 सेवा में जनपद बदायूं को जिला वार रिस्पांस टाइम 12 मिनट 15 सेकंड का समय लगाकर सूचना मिलने पर शिकायत कर्ता के पास पहुचकर लोगों को सहायता प्रदान कर बरेली जोन के जनपदों में पहला स्थान प्राप्त किया है । यह सेवा जनमानस को जल्द से जल्द सहायता प्रदान करने के संबंध में चलाई जा रही है जनपद स्तर पर यह सेवा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार के निर्देशन में कार्य कर रही है पूर्व में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बदायूं अशोक कुमार द्वारा समस्त थाना प्रभारियों को थाना क्षेत्र की यू0पी0-100 की गाड़ियों को दिन व रात में चैकिंग हेतु निर्देशित किया गया था । जिसके परिणाम स्वरूप यू0पी0-100 के अधिकारी व कर्मचारी सतर्क रहते थे व  गोष्ठी में भी कड़े आदेश दिए गए थे कि सूचना प्राप्त होने पर घटनास्थल पर तुरंत पहुंचे । घटना स्थल पर पहुंचने पर किसी प्रकार की देरी ना हो, घटना स्थल पर पहुंचने के बाद आवश्यकता अनुसार कार्रवाई करें तथा पीडित पक्ष की बात विनम्रता पूर्वक सुने । यदि घटना बड़ी है तो संबंधित थाने अथवा उच्च अधिकारियों को तुरन्त अवगत कराएं । इसके परिमाण स्वरूप दिनांक 13 मई2018 को समय 6.34 पर इवेन्ट नं0 9691 पीआरवी 1279 को थाना सिविल लाइन क्षेत्रान्तर्गत सूचना मिली की कुरऊ मोड़ के पास सड़क के किनारे 10 फिट गहरी खाई में एक बुजुर्ग फंसे हुये है शायद मर चुके है । इस सूचना पर पीआरवी द्वारा तत्काल मौके पर पहुंचकर झाडियों में फंसे 76 वर्षीय बुजुर्ग को लोगों की सहायता से निकाला गया, बुजुर्ग जिंदा थे परन्तु हालात गंभीर थी उन्हें पानी पिलवाकर 108 एम्बुलेंस से जिला अस्पताल पहुचाया । परिजनों के आने पर पता चला कि बुजुर्ग दिल्ली के रहने वाले है दिनांक 10 मई 2018 को बड़ी सरकार में नमाज पढ़ने के बाद से पता नही चल पा रहा था । पीआरवी 1279 पर मौजूद कमाण्डर दयाल सिंह सबकमाण्डर- शराफत हुसैन पॉयलट- अशोक उपाध्याय के इस सराहनीय कार्य पर उक्त पीआरवी को दिनांक 13 मई 2018 की पीआरवी ऑफ द डे से सम्मानित किया गया है । तथा समस्त थाना प्रभारियों को यह भी आदेशित किया गया है यदि यू0पी0-100 पर कोई झूठी या गलत सूचना देता है तो उसके खिलाफ वैधानिक कार्यवाही की जाये । दिनांक 14 मई 2018 को थाना सिविल लाइऩ क्षेत्रान्तर्गत कॉलर द्वारा सूचना दी गयी जो गलत पायी गयी के संबंध में कॉलर के विरूद्ध 177 भादवि की एनसीआर पंजीकृत कर विधिक कार्यवाही की गयी । ऐसा ही एक प्रकरण थाना बिसौली बदायूँ में प्रकाश में आया है । झ्स संबंध में थाना प्रभारी बिसौली को आदेशित किया गया कि सही तथ्य के आधार पर कॉलर के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही करे

shares