नवाज शरीफ और उनके परिवार पर कानून का शिकंजा कसता जा रहा है. वहीं नवाज शरीफ इस मौके को भुनाने में जुटे हैं. गिरफ्तारी से पहले नवाज वो हर काम कर रहे हैं जिससे पाकिस्‍तान में उनके पक्ष में माहौल बन सके.    गिरफ्तारी से पहले शरीफ ने कहा है कि वह अपनी बीमार पत्नी को यहां अल्लाह के भरोसे छोड़ रहे हैं और जेल में डाले जाने या फांसी पर चढ़ाए जाने की परवाह किए बगैर पाकिस्तान लौट रहे हैं. वहीं नवाज शरीफ की मां बेगम शमीम अख्तर ने वीडियो संदेश जारी कर अपने बेटे का बचाव किया है. नवाज के पाकिस्तान लौटने से एक दिन पहले उन्होंने कहा, ‘अगर मेरे बेटे को जेल भेजा गया, तो मैं भी उनके साथ जेल जाऊंगीशरीफ और उनकी बेटी है. मरियम की आज कुछ ही घंटों में गिरफ्तार होने वाली है. इससे पहले मरियम को 25 जुलाई को होने वाले आम चुनावों में लड़ने के लिए अयोग्य घोषित किया जा चुका है. वहीं इसी मामले में उनके पति कैप्टन (रिटायर्ड) मुहम्मद सफदर को नैब रावलपिंडी से गिरफ्तार किया जब वे एक रैली संबोधित कर रहे थे. एहतिसाब (जवाबदेही) अदालत ने नवाज के दामाद मुहम्मद सफदर को एक साल की सजा सुनाई थी