प्रदेश सरकार ने कन्या सुमंगला योजना लागू की

.हरदोई। जिला प्रोबेशन अधिकारी/जिला बाल संरक्षण अधिकारी ने बताया है कि उ0प्र0 सरकार द्वारा कन्या सुमंगला योजना लागू कर दी है और योजना का मुख्य उद्वेश्य कन्या भ्रूण  हत्या को समाप्त करना, समान लैंगिक अनुपात स्थापित करना, बाल विवाह की कुप्रथा को रोकना, बालिकाओं के स्वास्थ्य एवं शिक्षा को प्रोत्साहन देना और उन्हें स्वावलम्बी बनाना है।
उन्होने अवगत कराया कि यह योजना छः श्रेणी में लागू की गयी है इसमें बालिका के जन्म होने पर दो हजार रूपये, बालिका के एक वर्ष तक के पूर्ण टीकारण के उपरान्त एक हजार रू0, बालिका के कक्षा 01 में प्रवेश लेने पर दो हजार रू0, कक्षा 06 में प्रवेश लेने के उपरान्त दो हजार रू0, कक्षा 09 में प्रवेश लेने के उपरान्त तीन हजार रू0 तथा कक्षा 12 उत्तीर्ण करके स्नातक अथावा 02 वर्षीय या अधिक अवधि के डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश लेने पर पांच हजार रू0 एक मुश्त दिया जायेगा। 
जिला प्रोबेशन अधिकारी ने बताया कि लाभार्थी को योजना के तहत देय धनराशि पीएफएमएस के माध्यम से उनके बैंक खाते में भेजी जायेगी तथा अवस्यक होने की दशा में धनराशि लाभार्थी के माता के बैंक खाते में और माता की मृत्यु की स्थित में धनराशि पिता के बैंक खाते में तथा माता-पिता दोनो की मृत्यु होने की दशा में अभिभावक के खाते में धनराशि भेजी जायेगी तथा माता-पिता की मृत्यु प्रमाण पत्र साक्ष्य के रूप में प्रस्तुत करना होगा।
जिला प्रोबेशन अधिकारी ने कहा है कि आवेदन पत्र आन लाइन स्वीकार किये जायेगें और जो आवेदक आनलाइन करने में सक्षम नहीं है वह अपने आवेदन आफलाइन के माध्यम से खण्ड विकास अधिकारी, उप जिलाधिकारी, जिला परिवीक्षा अधिकारी, उप मुख्य परिवीक्षा अधिकारी के कार्यालय में जमा कर सकते है और डाक से प्राप्त आवेदन पत्र स्वीकार नहीं किये जायेगें तथा उक्त योजना का लाभ पाने के लिए लाभार्थी उ0प्र0 का निवासी हो तथा उसके पास स्थायी निवास प्रमाण पत्र, राशन व आधार कार्ड, वोटर पहचान पत्र, विद्युत या टेलीफोन बिल हो और लाभार्थी की वार्षिक आय अधिकतम तीन लाख रू0 हो, यदि किसी परिवार की अधिकतम दो बच्चियों को लाभ मिलेगा तथा लाभार्थी के परिवार में अधिकत दो बच्चें हो और यदि किसी महिला को पहले प्रसव से बालिका है व द्वितीय प्रसव दो जुड़ुआ बालिकाएं होती है तो इस दशा में तीनो बालिकाओं को योजना का लाभ अनुमन्य होगा और यदि किसी परिवार ने अनाथ बालिका को गोद लिया हो तो उन बालिकाओं को भी सम्मिलित करते हुए कन्या सुमंगला योजना का लाभ दिया जायेगा एवं अधिक जानकारी के लिए किसी भी कार्य दिवस में जिला प्रोबेशन कार्यालय से सम्पर्क करें।

Social media & sharing icons powered by UltimatelySocial