जब परिवार ने छोडा साथ राज वर्धन सिंह राजू ने कराया दाह-संस्कार*


हरदोई :-  समाज मे समाजसेवी के नाम अगर उठता है तो लोगो मे बस एक ही नाम अब जवा पर आता है और वो राज वर्धन सिंह राजू। राजू जी को अगर सूचना मिल जाये कि किसी गरीब असहाय व्यक्ति को किसी प्रकार की जरूरत है तो राज वर्धन सिह बिना समय गवाये मदद पहुंचाते है। ऐसी ही एक दिल को झकझोर कर देने वाला मामला समाने आयी। राज वर्धन सिह को ज्ञात हुआ कि एक बुढी माता का निधन कल दिनाक  9 जून उदल पूर्वा थाना बघौली के अंतर्गत हो गया है। बुढी माता जी के परिवार मे एक ही बेटी थी, जिसकी शादी हो चुकी थी। मिली जानकारी के अनुसार दामाद ने पुरी जमीन अडप कर ली थी। किसी अन्य जगह पर रहने लगा था। बुढी माता की मृत्यु के पश्चात दामाद को गावो वालो ने सूचना दी। लेकिन दामाद ने आने से भी साफ मना कर दिया। गांव वालो ने राज वर्धन सिह को सूचना की और वह इस पुरी घटनाक्रम को सुनने के पश्चात ही बुढी माता के दहा संस्कार की जिम्मेदारी ले ली। और उसे पुरा भी करवाया। इसे ही कहते है जब परिवार ने छोडा साथ राज वर्धन राजू ने कराया दाह-संस्कार।

Social media & sharing icons powered by UltimatelySocial