दिनदहाड़े दीवानी हत्याकांड, यूपी बार काउंसिल की नवनिर्वाचित अध्यक्ष को उसके साथी अधिवक्ता ने मारी गोली

आगरा। दीवानी में उस समय अफरा तफरी मच गई जब उत्तर प्रदेश बार काउंसिल अध्‍यक्ष दरवेश यादव को भरी दीवानी में उनके साथी अधिवक्ता ने गोली मार दी। दिन दहाड़े दीवानी परिसर में हुई गोलीकांड से अफरा तफरी मच गई। सभी लोग इधर उधर भागने लगे। दरवेश यादव को गोली मारने के बाद हत्यारे ने खुद को भी गोली मार दी। आनन फानन में उस घटना की सूचना पुलिस को दी गयी और दोनों अधिवक्ताओं को इलाज के लिए पुष्पांजलि हॉस्पिटल ले जाया गया जहाँ उत्तर प्रदेश बार काउंसिल अध्‍यक्ष दरवेश यादव की मौत हो गयी। वहीं दूसरे अधिवक्ता का इलाज चल रहा है लेकिन स्थिति उसकी नाजुक बनी हुई है।

बता दें कि दो दिन पहले ही दरवेश यादव उत्तर प्रदेश बार काउंसिल की अध्यक्ष निर्वाचित हुई थीं। यूपी बार काउंसिल के इतिहास में वे पहली महिला अध्यक्ष बनी थीं और दूसरी बार अध्यक्ष बनने का सौभाग्य भी उन्हें ही मिला था। यूपी बार काउंसिल का चुनाव रविवार को प्रयागराज में हुआ था। दरवेश सिंह और हरिशंकर सिंह को बराबर 12-12 वोट मिले। दरवेश सिंह के नाम एक रिकॉर्ड यह भी है कि बार काउंसिल के 24 सदस्यों में वे अकेली महिला थी।
एक बार फिर उत्तर प्रदेश बार काउंसिल की अध्यक्ष निर्वाचित होने पर दीवानी परिसर में उनका स्वागत समारोह चल रहा था हर कोई उन्हें बधाई दे रहा था तभी मनीष नाम के अधिवक्ता ने दरवेश यादव को एक के बाद एक तीन गोली मार दी।

घटना दोपहर करीब तीन बजे की है। स्वागत समारोह के दौरान उप्र बार काउंसिल की अध्‍यक्ष दरवेश यादव और अधिवक्‍ता मनीष शर्मा के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ा कि अधिवक्ता मनीष शर्मा ने दरवेश यादव को लगातार तीन गोली मारीं और फिर अपने आप को भी गोली मार ली। इससे दीवानी परिसर में अफरा तफरी फैल गई। मौके पर पहुँची पुलिस और अधिवक्ताओं ने दोनों को दिल्‍ली गेट स्थित पुष्‍पांजलि हॉस्पिटल में भर्ती कराया। जहाँ दरवेश की मौत हो गयी।

इस घटना के बाद से दोनों के परिवार में कोहराम मचा हुआ है। इस घटना की सूचना मिलते ही परिवार के लोग भी हॉस्पिटल पहुँच गए। फिलहाल किस विवाद के कारण मनीष ने दरवेश को गोली मारी है। इसकी जांच पड़ताल में पुलिस जुट गई है।

Social media & sharing icons powered by UltimatelySocial