आपसी भाईचारा कायम कर मुहब्बत का संदेश पहुंचाना ही लौहपुरूष का उद्देश्य था- प्रो0 माहरूख़ मिर्जा


लखनऊ। कौशिकी त्रिपाठी। आपसी भाईचारा कायम कर जन-जन तक शांति का संदेश पहुंचाना सही मायनों में सरदार वल्लभाई पटेल जी को श्रंद्धाजंली अर्पित करना है। उक्त बातें ख़्वाजा मुईनुद्दीन अरबी फारसी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 माहरूख़ मिर्जा़ ने सरदार वल्ल्भाई पटेल की जयंती के अवसर पर विश्वविद्यालय में कार्यक्रम के दौरान कहीं। प्रो0 मिजाऱ् ने कहा कि पटेल जी की जयंती को राष्ट्रीय एकता के रूप में मनाने का उद्देश्य यही है कि सरदार जी ने हमेशा सभी का सम्मान किया और हर आम खास के बीच मुहब्बत और आपसी भाईचारे का संदेश पहुंचाने का काम किया। उन्होंने कहा कि सरदार वल्लभाई पटेल जी का ही मात्र ऐसा व्यक्तिव्व एंव सामर्थ्य था जिन्होंने देशभक्ति का ऐसा बीज रोपित किया था जिससे उसमान अली खां ने भी प्रेरित होकर 5000 हजार टन सोना खुशी-खुशी 1965 में केन्द्र सरकार को देश की सुरक्षा के लिए नेशनल डिफेंस फण्ड को दिया था। कार्यक्रम में सरदार पटेल पर आधारित डाक्यूमेण्ट्री भी दिखाई गयी इसके अतिरिक्त कुलपति के नेतृत्व में एकता और अखंडता की शपथ दिलाकर रन फॉर यूनिटी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का संचालन डॉ0 नीरज शुक्ला ने किया । डॉ0 पूनम चौधरी, डॉ0 तनु डंग, प्रो0 अशरफी, सहित बड़ी संख्या में अध्यापक छात्र- छात्राएं उपस्थित रहे।

Social media & sharing icons powered by UltimatelySocial